कंगना ने बीजेपी की इस नेता को दिया फिल्म इंडस्ट्री को बचाने का क्रेडिट

कंगना ने बीजेपी की इस नेता को दिया फिल्म इंडस्ट्री को बचाने का क्रेडिट
Spread the love

अभिनेत्री कंगना रनौत अपने बयानों के लिए हमेशा सुर्खियों में रहती हैं। अब उन्होंने एक बयान बीजेपी की प्रखर नेता रहीं सुषमा स्वराज को लेकर दिया है। सुषमा स्वराज की पहली बरसी पर आयोजित राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के आनुषांगिक संगठन संस्कार भारती के इस कार्यक्रम में फिल्मी दुनिया के तमाम दूसरे सितारों ने भी शिरकत की। कंगना ने इस कार्यक्रम में कहा कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को सुषमा स्वराज ने ही माफिया से मुक्त कराया।

ऑनलाइन हुए इस इवेंट में कंगना ने कहा कि सुषमा जी ने अपने जीवन में कई बहादुरी भरे काम किए। उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री को अंडरवर्ल्ड के हाथों से बचाया और और एक पहचान दी, वे मेरे लिए प्रेरणा स्वरूप हैं। उनकी पूरी जिन्दगी महिला सशक्तिकरण की मिसाल है जिसे हमारी आने वाली पीढ़ियां कभी भुला नहीं सकतीं।

केंद्रीय मंत्री रहीं सुषमा स्वराज के निधन के एक साल पूरे होने पर सुष्मांजलि नाम से एक वर्चुअल इवेंट का आयोजन नेशन फर्स्ट कलेक्टिव, संस्कार भारती पूर्वोत्तर एवं संस्कृति गंगा न्यास ने किया। हरीश भिमानी  ने इस कार्यक्रम का संचालन किया और इसकी अध्यक्षता सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने की। कार्यक्रम में सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी स्वराज की विशेष उपस्थिति रही।

इस कार्यक्रम में हिंदी फिल्मों के कलाकारों के अलावा मलयालम सिनेमा के मशहूर अभिनेता मोहन लाल भी शामिल हुए। हिंदी सिनेमा के जिन कलाकारों ने यहां अपनी सहभागिता दिखाई, उनमें प्रसून जोशी, सुभाष घई, अनूप जलोटा, मधुर भंडारकर, कविता कृष्णामूर्ति, अमीषा पटेल, ईशा गुप्ता, समीर अनजान, कमलेश पांडे, प्रियदर्शन, कुलदीप सिंह, शत्रुघ्न  सिन्हा, गजेन्द्र चौहान और मुकेश खन्ना आदि शामिल हैं। फिल्म निर्देशक प्रियदर्शन कार्यक्रम की आयोजन समिति के अध्यक्ष भी हैं।

इस वर्चुअल इवेंट के जरिए सुषमा स्वराज के योगदान को याद किया गया। इस मौके पर प्रसून जोशी ने सुषमा स्वराज की सुनाई आखिरी कविता ‘उखड़े उखड़े क्यों हो वृक्ष सुख जाओगे’ भी सुनाई। अनूप जलोटा ने कार्यक्रम की शुरुआत सुषमा स्वराज के एक पसंदीदा गीत से की और कहा कि वह बहुत ही स्पष्ट वक्ता थीं और कलाकारों के लिए उनके हृदय में विशेष स्थान हमेशा रहा।

 

 

 

 

Right Click Disabled!