कर्ज में डूबते गए किशोर बियानी

कर्ज में डूबते गए किशोर बियानी
Spread the love

12,778 करोड़ रुपये से ज्यादा के कर्ज में डूबे फ्यूचर ग्रुप के रिलायंस ने 24,713 करोड़ रुपये में खरीद लिया है। रिटेल किंग के नाम से मशहूर किशोर बियानी या उनके परिवार का कोई भी सदस्य अब 15 साल तक रिटेल कारोबार में नहीं आ सकता। यानी अब उन्हें नए सिरे से कारोबार शुरू करना होगा। डील में बिग बाजार, एफबीबी, फूडहॉल, ईजीडे, सेंट्रल, ब्रैंड फैक्टरी और नीलगिरिज शामिल है। फोर्ब्स के अनुसार, 2019 तक वे 13 हजार करोड़ रुपये की संपत्ति के मालिक थे।

साल 2008 में वैश्विक मंदी के बाद फ्यूचर ग्रुप का कर्ज बढ़ता गया और 2009 में उन्होंने मैनेजमेंट कंसल्टिंग कंपनी मैकेंजी की सेवाएं ली। इसके बाद साल 2012 में उन्होंने पेंटालून के अधिकांश शेयर आदित्य बिड़ला नुवा को बेच दिए। यह डील 1,600 करोड़ रुपये में हुई थी, जिसमें 800 करोड़ रुपये का कर्ज शामिल था। अमेजन को उन्होंने फ्यूचर कूपंस की 49 फीसदी हिस्सेदारी बेची और फिर अमेरिकी कंपनी वारबर्ग पिंकस को उन्होंने फ्यूचर कैपिटल होल्डिंग के अधिकांश शेयर बेचे।
मुनाफे में 15 फीसदी की गिरावट

 

Right Click Disabled!