कुशलगढ़ रतलाम स्टेट हाइवे पांच साल पूर्व बनी डामर सड़क उखडकर बनी जानलेवा

कुशलगढ़ रतलाम स्टेट हाइवे पांच साल पूर्व बनी डामर सड़क उखडकर बनी जानलेवा
Spread the love
  •  बनने के तुरंत बाद पहली बारिश में उखड़ी मुख्य मार्ग की सड़क पर तीन बार हो चुका है पेचवर्क

कुशलगढ़ विधानसभा क्षेत्र में सबसे ज्यादा दयनीय स्थिति सड़कों की है जहां गांव , पंचायत को उपखंड सहित मुख्य सड़कों से जोड़ने वाली सड़कें सहित मुख्य मार्ग की सड़कों पर गुजरना जान जोखिम में डालना है यहां बता दें कि कुशलगढ़ से रतलाम मार्ग राजस्थान सीमा स्टेट हाइवे कहा जाने वाला मार्ग जिसकी कुल दूरी बाजना सीमा तक 33 किमी है ऐसे में करीब पांच वर्ष पूर्व बावलियापाडा खाटलीमहुडी खेजड़ी से करीब नौ किमी सड़क का निर्माण नये सिरे से हुआ था जिसमें ठेकेदार द्वारा गुणवत्ता विहिन निर्माण सामग्री का इस्तेमाल करने से बनने के तुरंत बाद ही पूरी सड़क उखड कर धाराशाही हो गयी थी जहां मिडिया में समाचार प्रकाशित होने व क्षेत्रवासियो की मांग पर बनने के बाद से अब तक करीब तीन बार पेचवर्क का काम उक्त सड़क पर हो चुका है।

गत माह लगातार हुई बारिश ने रही सही सड़क और डामर का नामोनिशान मिटा दिया जहां उक्त नौ किमी सड़क पर डामर ढूंढने पर नहीं मिलता है जबकि जानलेवा गड्डे वाहनधारियो के लिए जी का जंजाल बन चुके हैं उक्त मार्ग पाटन थाना क्षेत्र खेड़ा धरती की डेढ़ दर्जन से अधिक पंचायतों की जीवन रेखा कहीं जाने वाली सड़क होकर चौबिसों घंटे आवागमन चालू रहता है ऐसे में खेजड़ी से करणघाटी नौ किमी सड़क को पुनः नये सिरे से बनाने की क्षेत्रवासियो की पुरजोर मांग है ताकि आयै दिन होने वाले हादसो को रोकने के साथ वाहन धारियों को आवागमन में सुविधा मिले लेकिन कुशलगढ़ में टूटी सड़कों और पुलिया की देखरेख और जानकारी करने में जिम्मेदार सार्वजनिक निर्माण विभाग भी जानकर अनजान बना हुआ है।

अरुण जोशी (कुशलगढ़)

IMG-20200913-WA0002_1599989946902.jpg

Right Click Disabled!