खेल दिवस 2020 : अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों का गढ़ : पिथौरागढ़

खेल दिवस 2020 : अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों का गढ़ : पिथौरागढ़
Spread the love

पिथौरागढ़ जिला देश को अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी देने वाला गढ़ रहा है। पिथौरागढ़ में आयरन वॉल ऑफ इंडिया के नाम से विख्यात फुटबॉल खिलाड़ी त्रिलोक सिंह बसेड़ा सहित 50 से अधिक ऐसे खिलाड़ी पैदा हुए हैं, जिन्होंने इस सीमांत का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रोशन किया है।

त्रिलोक सिंह देवलथल के भंडारीगांव के निवासी थे। इनके अलावा मुक्केबाज कैप्टन हरि सिंह थापा एशियाड रजत पदक विजेता, अर्जुन पुरस्कार अवार्डी बॉस्केटबॉल खिलाड़ी हरिदत्त कापड़ी, अर्जुन अवार्डी पर्वतारोही पद्मश्री हरीश चंद्र सिंह रावत, अंतरराष्ट्रीय जिम्नास्ट त्रिलोक सिंह पानू, पर्वतारोही पद्म श्री हुकम सिंह पांगती, अर्जुन पुरस्कार अवार्डी पर्वतारोही चंद्रप्रभा एतवाल, मुक्केबाज धरमचंद और राजेंद्र कुमार पुनेड़ा, प्रथम द्रोणाचार्य पुरस्कार अवार्डी हंसा मनराल, हॉकी खिलाड़ी महेंद्र सिंह बोहरा और स्व. रमेश चंद्र पटियाल, पर्वतारोही एवं स्कीइंग खिलाड़ी खिलाड़ी मोहन सिंह गुंज्याल, अर्जुन पुरस्कार अवार्डी नौकायन खिलाड़ी सुरेंद्र सिंह वल्दिया, हॉकी खिलाड़ी हरप्रिया रौतेला, मुक्केबाज देवी चंद और धर्मेंद्र प्रकाश भट्ट, हॉकी खिलाड़ी मंजू बिष्ट, मुक्केबाज राजेंद्र सिंह जेठी और नरेंद्र सिंह बिष्ट, पर्वतारोही सुमन कुटियाल, पर्वतारोही लवराज सिंह धर्मशक्तू, फुटबॉल खिलाड़ी विक्रम सिंह बिष्ट, धावक हीरा सिंह रौतेला, धाविका गीता मनराल, निशानेबाज शमशेर सिंह भंडारी, टेबल टेनिस खिलाड़ी शबाली बानू, धाविका पुष्पा देवी, मुक्केबाज दिलीप कुमार पौरी समेत कई ने सीमांत का विश्व पटल पर नाम रोशन किया है।

 

Right Click Disabled!