चौराहों पर बदहाली में है हमारी हिंदी

चौराहों पर बदहाली में है हमारी हिंदी
Spread the love

हिंदी को बढ़ावा देने, संरक्षित करने की तमाम मुहिम सरकारी स्तर पर भी चल रही हैं, लेकिन खुद सरकारी सिस्टम में ही हिंदी अपनी बदहाली पर आंसू बहा रही है।देहरादून शहर में तमाम ऐसे साइनबोर्ड हैं, जिन पर हिंदी का शब्द ही गलत लिखा है या मात्राएं गलत लिखी गई हैं।राष्ट्रीय भाषा हिंदी के ये हालात उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में है।
 

 

Right Click Disabled!