जम्मू-कश्मीरः उपराज्यपाल मुर्मू की हिदायत, हर बुजुर्ग का कराया जाए कोरोना परीक्षण

जम्मू-कश्मीरः उपराज्यपाल मुर्मू की हिदायत, हर बुजुर्ग का कराया जाए कोरोना परीक्षण
Spread the love

उपराज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू ने कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए बुजुर्गों का शत-प्रतिशत परीक्षण कराने को कहा है। खासकर वृद्धाश्रमों में यह व्यवस्था सुनिश्चित करनी है। इसके साथ ही चिह्नित किए जा चुके रेड जोन गांवों और मोहल्लों में आक्रामक व लक्षित परीक्षण तथा प्रतिबंधों का सख्ती से पालन कराने को भी कहा।

राजभवन में शनिवार को हुई उच्चस्तरीय बैठक में उन्होंने कहा कि रेड जोन में आवश्यक सामान की आपूर्ति सुनिश्चित होनी चाहिए ताकि लोगों को दिक्कतों का सामना न करना पड़े। एहतियान क्वारंटीन केंद्रों तथा आइसोलेशन बेड की संख्या बढ़ाने की हिदायत देते हुए कहा कम से कम तीन हजार क्वारंटीन बेड तैयार रखे जाने चाहिए।

इसके साथ ही 2500 कश्मीर व 1500 जम्मू में आइसोलेशन बेड तैयार रहें। उन्होंने नेब्युलाइजर और ऑक्सीजन सिलिंडरों की पर्याप्त आपूर्ति के भी निर्देश दिए। बैठक में सुरक्षा उपकरणों के भंडार की स्थिति, कांटैक्ट ट्रेसिंग अभियान तेज करने, आवश्यक वस्तुओं का सुगम परिवहन, स्वयंसेवकों का प्रभावी जमावड़ा, नियमित आधार पर स्वास्थ्य जांच का संचालन, सैनिटाइजेशन और स्वच्छता अभियान तथा अन्य उपायों पर भी चर्चा की गई।

इससे पहले वीडियो कांफ्रेंसिंग से उन्होंने कोरोना महामारी के प्रबंधन और नियंत्रण के लिए केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन के प्रयासों के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जानकारी दी। बताया कि 208 वेंटिलेटर वाले 16 समर्पित कोविड अस्पताल, 2500 आइसोलेशन बेड के अलावा 25 हजार नॉन हॉस्पिटल बेड उपलब्ध हैं। 400 और वेंटिलेटर खरीदे जा रहे हैं।

इसके अलावा लगभग 5500 लोग होम क्वारंटीन हैं। 30 हजार मजदूर शिविरों में रह रहे हैं। लगभग 18 हजार हेल्थ केयर प्रोफेशनल व 30 हजार पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है। अन्य योजनाओं का भी लाभ दिया जा रहा है। केंद्र शासित प्रदेश और बाहर फं से मजदूरों और छात्रों की सहायता के लिए समर्पित कॉल सेंटर स्थापित किए गए हैं।

Right Click Disabled!