जिले में स्वास्थ्य सेवाओं के सुधार के लिए 35 नए एमओ भर्ती

जिले में स्वास्थ्य सेवाओं के सुधार के लिए 35 नए एमओ भर्ती
Spread the love

स्वास्थ्य विभाग हरियाणा की निदेश–क डा. वीणा सिंह ने शुक्रवार को कहा कि कोविड-19 की वर्तमान स्थिति से निपटने में स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह सक्षम है और गुड़गांव में एएनएम, पैरामेडिकल स्टाफ, आशा वर्करों आदि को प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जिससे स्वास्थ्य सेवाओं में और अधिक सुधार होगा। डा. वीणा सिंह गुड़गांव में मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत कर रही थी।

उन्होंने बताया कि जिला में स्वास्थ्य सेवाओं के सुधार के अंतर्गत 35 नए चिकित्सा अधिकारियों की नियुक्ति की गई है। उनके अलावा, 10 नए लैब टैक्निशियन तथा एंबुलेंस के लिए 12 नए इमरजेंसी मेडिकल टेक्निशियन भी नियुक्त किए गए हैं। इनकी नियुक्ति से यहां स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार होगा। उन्होंने कहा कि जिला में समर्पित वालिंटियरों की टीम की आवश्यकता है, जो समाज में से स्वयं आगे आएं। ये वॉलिटियर होम आइसोलेशन वाले मरीजों से संपर्क करके उनका मार्गदर्शन करेंगे, लेकिन उससे पहले वॉलिंटियरों को बेसिक ट्रेनिंग दी जाएगी।

वर्तमान में रैपिड रिस्पोंस टीम ने 99 लोग काम कर रहे हैं। कोरोना पॉजिटिव पाए गए मरीजों से रैपिड रिस्पोंस टीम ही संपर्क करती है।  उन्होंने बताया कि गुरूग्राम में कोविड को लेकर सैंपल टेस्ट करने के लिए 5 नए क्लेक्शन सेंटर शुरू किए गए हैं, जिनमें प्रातः 9 बजे से दोपहर बाद 2 बजे तक सैंपल लिए जाएंगे। ये सैंटर गांधी नगर, वजीराबाद, सैक्टर 39, डुंडाहेड़ा व सिविल सर्जन कार्यालय में खोले गए हैं। एक सवाल के जवाब में डा. वीणा सिंह ने बताया कि टेस्ट रिपोर्ट आने में जो 2 से 3 दिन का समय लगता था, उसे कम करने के प्रयास किए जा रहे हैं, जिससे कि रिपोर्ट 24 से 36 घंटे में मिल सके।
डा. वीणा ने मास्क पहनने तथा सोशल डिस्टेंसिंग नियम को कड़ाई से लागू करने पर जोर दिया और कहा कि इन नियमों की अवहेलना करने वालों का पुलिस ज्यादा से ज्यादा चालान करें। साथ ही उन्होंने कहा कि इसके बारे में जागरूकता लाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा पूरे प्रयास किए जा रहे हैं और उसके अलावा, धार्मिक गुरूओं तथा समाज के अन्य अग्रणी लोगों का सहयोग लिया जाएगा।

कोविड-टेस्ट अब 2400 रूपए में करने की तैयारी
बैठक में गुड़गांव के सिविल सर्जन डा. विरेंद्र यादव ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा एनसीआर में कोविड के सैंपलों की लैब टेस्टिंग का रेट 2400 रूपए निर्धारित करने की कार्यवाही की जा रही है। इस बारे में जल्द ही सरकार द्वारा अधिसूचना जारी की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि किसी भी व्यक्ति को कोरोना संक्रमण का संदेह होता है तो सबसे पहले वह अपने नजदीकी सरकारी स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सा अधिकारी से संपर्क करें, उसकी समस्या का समाधान वहीं हो जाएगा।

Right Click Disabled!