दमदार हीरोइन नीतू सिंह ने इन 10 फिल्मों से चमकाया अपना नाम

दमदार हीरोइन नीतू सिंह ने इन 10 फिल्मों से चमकाया अपना नाम
Spread the love

अभिनेत्री नीतू सिंह उन कुछ कलाकारों में से एक हैं जिन्होंने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत एक बाल कलाकार के रूप में की है। एक बाल कलाकार के रूप में ही नीतू को इतनी कामयाबी मिलना शुरू हो गई थी कि आगे चलकर उन्हें कभी काम की कमी नहीं रही। साल 1973 में आई फिल्म ‘रिक्शावाला’ में पहली बार उन्हें एक वयस्क किरदार में देखा गया और आगे के आठ साल तक उन्होंने ताबड़तोड़ फिल्में कीं। नीतू सिंह के लिए साल 2020 बड़ा दुख लेकर आया। उनके पति और करोड़ों दिलों पर राज करते रहे उनके पति ऋषि कपूर का निधन 30 अप्रैल को निधन हो गया। नीतू सिंह के  जन्मदिन पर आइए जानते हैं उनके कुछ दमदार किरदार।

किरदार : गंगा / जमुना
फिल्म : दो कलियां (1966)
नीतू सिंह ने 1966 में आई फिल्म ‘सूरज’ से एक बाल कलाकार के रूप में ही अपने करियर की शुरुआत की थी। ऐसे तो कई कलाकार हैं जिन्होंने बालपन से ही फिल्मों को अपना लिया था लेकिन बचपन में दोहरा किरदार निभाने का कारनामा तो नीतू सिंह ने ही इस फिल्म में किया है। वह गंगा और जमुना दो जुड़वा बहनों के किरदार में नजर आईं जो वक्त आने पर अपने टूटते परिवार को बचाने का काम करती हैं।

किरदार : मार्गरेट
फिल्म : जहरीला इंसान (1974)
नीतू सिंह की ऋषि कपूर के साथ यह पहली फिल्म रही। इस फिल्म में वह एक क्रिश्चियन लड़की के किरदार नजर आईं। अर्जुन और मार्गरेट एक ही कॉलेज में पढ़ते हैं और एक दूसरे से प्यार करने लगते हैं। वह शादी करना चाहते हैं लेकिन मार्गरेट के परिवारजन इस शादी के लिए तैयार नहीं होते। एक दिन मार्गरेट अर्जुन के साथ भाग जाती है। अर्जुन पहले से ही दिमागी रूप से बीमार होता है। वह मार्गरेट को लेकर खुद भी खाई में कूद जाता है। यह एक मार्मिक प्रेम कहानी है जिसमें ऋषि कपूर और नीतू सिंह के अलावा मौसमी चटर्जी और प्राण भी मुख्य भूमिकाओं में नजर आए।

किरदार : निशा
फिल्म : खेल खेल में (1975)
इस फिल्म में एक बार फिर नीतू सिंह ऋषि कपूर के साथ नजर आए। इन दोनों के साथ राकेश रोशन भी मुख्य भूमिका में हैं। जैसा कि फिल्म का नाम है वैसे ही ये तीनों एक साथ एक कॉलेज में पढ़ते हैं और हंसी हंसी मजाक के बहुत शौकीन हैं। खेल खेल में ही एक दिन अनजाने में ही ये तीनों एक अपराध के भागी बन जाते हैं। फिल्म की शुरुआत तो कॉमेडी रोमांस से होती है लेकिन बाद में यही फिल्म सस्पेंस थ्रिलर का रूप ले लेती है। ऋषि और नीतू की यह पहली साथ में हिट फिल्म रही है। वर्ष 1992 में अब्बास मस्तान ने इसी फिल्म से प्रेरित होकर फिल्म ‘खिलाड़ी’ बनाई।

किरदार : वीरा नारंग
फिल्म : दीवार (1975)
इस फिल्म को वैसे तो अमिताभ बच्चन और शशि कपूर के लिए जाना जाता है लेकिन नीतू सिंह का भी इस फिल्म में शानदार किरदार रहा है। वह शशि कपूर के किरदार रवि की प्रेमिका के रूप में नजर आई हैं। कमाल की बात तो यह है कि नीतू सिंह इस फिल्म में शशि कपूर की प्रेमिका बनकर आईं हैं जबकि असलियत में वह उनके भतीजे ऋषि कपूर की पत्नी बनीं।  नीतू इस फिल्म में एक संस्कारी लड़की के रूप में हैं जो किसी को भी पसंद आ जाती हैं।

किरदार : पिंकी कपूर
फिल्म : कभी कभी (1976)
यश चोपड़ा के निर्देशन में बनी इस फिल्म में अमिताभ बच्चन, राखी, शशि कपूर, वहीदा रहमान, ऋषि कपूर, नीतू सिंह जैसे कलाकारों की एक फौज शामिल रही। नीतू सिंह ने एक ऐसी लड़की पिंकी का किरदार निभाया है जिसको उसकी मां स्वीकार नहीं पाती। जब बाद में पिंकी को अपनी असली मां का पता चलता है तो वह उसके करीब होने लगती है। फिल्म में ऋषि कपूर ने नीतू सिंह के प्रेमी का किरदार निभाया है और इसी फिल्म से उनकी असल जिंदगी में भी प्रेम का बीज बो दिया था।

किरदार : रूपा
फिल्म : धरम वीर (1977)
नीतू सिंह का किरदार इस फिल्म में काफी दमदार रहा। उन्होंने एक कबीले के सरदार की होने वाली पत्नी रूपा का किरदार निभाया है। हालांकि जब उसकी मुलाकात है फिल्म के मुख्य अभिनेताओं में से एक जीतेंद्र के किरदार वीर से होती है तो वह उसी से प्यार करने लगती है। रूपा मुंहफट होने के साथ बहुत बहादुर भी है। वह कई बड़े कामों में वीर की मदद करती है। मनमोहन देसाई के निर्देशन में बनी इस फिल्म में धर्मेंद्र, जीतेंद्र, जीनत अमान, नीतू सिंह, प्राण, जीवन और रंजीत मुख्य भूमिकाओं में है।

किरदार : डॉ सलमा अली
फिल्म : अमर अकबर एंथनी (1977)
मनमोहन देसाई के निर्देशन में बनी इस फिल्म में भी नीतू सिंह अपने पति ऋषि कपूर के साथ ही रोमांस करती हुई नजर आईं। नीतू सिंह जब अपने बेटे रणबीर कपूर के साथ अपनी फिल्म ‘बेशरम’ का प्रमोशन करने के लिए अमिताभ बच्चन के शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ में आईं तब उन्होंने नीतू के इस फिल्म के एक सीन का खूब मजाक बनाया। सीन था जिसमें नीतू परवीन बॉबी की नब्ज पकड़ कर जांचती हैं कि क्या परवीन गर्भवती हैं? इस पर अमिताभ का कहना था कि मनमोहन देसाई लॉजिक का बिल्कुल ध्यान नहीं रखते थे।

किरदार : नीता
फिल्म : कस्मे वादे (1978)
इस फिल्म की पूरी कहानी अमिताभ बच्चन के दोहरे किरदार पर ही टिकी हुई है। नीतू सिंह का इस फिल्म में अमिताभ बच्चन के छोटे भाई राजू का किरदार निभा रहे रणधीर कपूर की मंगेतर के रूप में एक छोटा सा किरदार है। रमेश बहल के निर्माण व निर्देशन में बनी इस फिल्म में एक छोटे से किरदार से ही नीतू सिंह ने अपनी अलग छाप छोड़ी है। इस क्राइम पारिवारिक ड्रामा फिल्म में अमिताभ बच्चन, राखी, रणधीर कपूर, नीतू सिंह और अमजद खान मुख्य भूमिका में नजर आए।

किरदार : छन्नो
फिल्म : काला पत्थर (1979)
नीतू सिंह ने यश चोपड़ा के निर्माण और निर्देशन में बनी इस फिल्म में समीक्षकों और दर्शकों को सबसे ज्यादा प्रभावित किया। फिल्म में नीतू सिंह के अलावा राखी और परवीन बॉबी जैसी अभिनेत्रियां भी मुख्य भूमिकाओं में हैं लेकिन छन्नो के किरदार में नीतू सिंह ने एक अलग ही छाप छोड़ी। फिल्म में वह शत्रुघ्न सिन्हा के साथ रोमांस करती हुई नजर आईं। इस फिल्म के लिए पहली बार उन्हें सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री के फिल्मफेयर पुरस्कार के लिए नामित किया गया।

किरदार : बुलबुल चौटाला
फिल्म : बेशरम (2013)
यह पहली बार हुआ जब तीन मां, बाप और बेटे एक साथ एक फिल्म में प्रमुख भूमिकाएं निभाते हुए नजर आए। हालांकि, फिल्म की कहानी के हिसाब से ऋषि कपूर और नीतू सिंह रणवीर कपूर के माता-पिता नहीं थे। नीतू सिंह फिल्म में एक रिश्वतखोर पुलिस वाली हेड कांस्टेबल बुलबुल चौटाला के किरदार में नजर आईं। इस फिल्म में ऋषि कपूर और नीतू सिंह के बीच में होने वाली नोंकझोंक लोगों को बहुत पसंद आई। समीक्षकों से फिल्म को अच्छी प्रतिक्रिया नहीं मिली सकी। फिल्म दबंग के निर्देशक अभिनव कश्यप की ये फिल्म फ्लॉप रही।

 

 

 

 

 

 

Right Click Disabled!