दिल्ली पुलिस में शामिल हुए 1320 सिपाही

दिल्ली पुलिस में शामिल हुए 1320 सिपाही
Spread the love

कोरोना काल के बीच मंगलवार को दिल्ली पुलिस की ओर से पहली बार वर्चुअल पासिंग आउट परेड का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी और दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव नए पुलिस मुख्यालय में मौजूद रहे। पुलिस ट्रेनिंग कॉलेज झड़ौदा कलां में आयोजित पासिंग आउट परेड में शामिल 1320 सिपाहियों ने एक बड़ी स्क्रीन के जरिए मुख्य अतिथि को सलामी दी। पूरा कार्यक्रम फेसबुक और दिल्ली पुलिस के यू-ट्यूब पेज पर लाइव चला। दिल्ली पुलिस में शामिल हुए सिपाहियों में 17 बी-टेक इंजीनियर भी शामिल हैं।

इस मौके पर गृह राज्य मंत्री ने दिल्ली पुलिस में शामिल हुए जवानों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस ने हमेशा अपने सिद्धांतों के साथ न्याय और शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए काम किया है। कोरोना काल में दिल्ली पुलिस ने अपनी सेवा से सभी का दिल जीता है। भर्ती हुए नए जवानों से भी ऐसी उम्मीद की जाती है। दिल्ली पुलिस आयुक्त ने मुख्य अतिथि का स्वागत करते हुए बताया कि भर्ती हुए नए जवानों को कानून की हर बारीकी की जानकारी देने के साथ हर परिस्थिति से निपटने की ट्रेनिंग दी गई है।

नए भर्ती हुए 1320 सिपाहियों में 407 महिला और 47 दमन और दीव के सिपाही भी शामिल हैं। पुरुषों में 20 पोस्ट ग्रेजुएट, 16 बी-टेक, 362 ग्रेजुएट हैं, जबकि महिला जवानों में 20 पोस्ट ग्रेजुएट, 2 बीसीए, 2 बीबीए, 1 बीई, 173 ग्रेजुएट हैं। दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ट्रेनिंग के दौरान सभी सिपाहियों को आईपीसी, सीआरपीसी, एविडेंस एक्ट, डीपी एक्ट, कंप्यूटर एंड साइबर क्राइम, ट्रैफिक नियम, मानवाधिकारों की जानकारी दी गई। पासिंग आउट परेड के दौरान ऑलराउंड बेस्ट बैच की ट्रॉफी (पुरुष) दिनेश गुरुंग और (महिला) नेहा हल्पटी को दी गई।

 

Right Click Disabled!