पूनम की मां ने शत्रुघ्न सिन्हा की तस्वीर देख कहा था गुंडा

पूनम की मां ने शत्रुघ्न सिन्हा की तस्वीर देख कहा था गुंडा
Spread the love

अपने बेबाक बयानों के लिए मशहूर बॉलीवुड अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा और एक्ट्रेस पूनम सिन्हा की आज मैरिज एनिवर्सिरी है। दोनों ने आज ही के दिन 1980 में शादी की थी। पूनम सिन्हा और शत्रुघ्न कपिल शर्मा की पहली मुलाकात पटना से मुंबई जाते हुए ट्रेन में हुई थी। तो चलिए आज हम आपको शत्रुघ्न सिन्हा और पूनम सिन्हा की लव स्टोरी के बारे में बताते हैं।

पहली मुलाकात में ही शत्रुघ्न सिन्हा को पूनम भा गईं थीं लेकिन उस समय वह रीना रॉय को डेट कर रहे थे। शत्रुघ्न सिन्हा ने अपनी लव स्टोरी के बारे में याद करते हुए बताया था ‘मेरे बड़े भाई राम सिन्हा और डॉयरेक्टर एनएन सिप्पी उनकी ओर से रिश्ता लेकर पूनम के पास पहुंचे। पूनम की मां ने शादी का रिश्ता ठुकरा दिया, यही नहीं उन्होंने तो मेरी तस्वीर देखकर कहा कि लड़का तो गुंडे जैसा दिखता है। इसके चेहरे पर इतने निशान हैं। दूसरी ओर उनकी बेटी पूर्व मिस यंग इंडिया थीं और बेहद खूबसूरत थीं हालांकि बाद में दोनों के पैरेंट्स मान गए।’ इन दोनों ने 9 जुलाई 1980 को शादी की थी।

वहीं दूसरी तरफ रीना रॉय और शत्रुघ्न सिन्हा की पहली मुलाकात फिल्म 1972 में फिल्म ‘मिलाप’ के सेट पर हुई। कालीचरण फिल्म की शूटिंग के दौरान दोनों एक दूसरे के करीब आए। एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि रीना से उनका रिश्ता 7 सालों तक चला। शादी के कई सालों बाद तक भी वो रीना राय से मिलते रहे थे। उनके जीवन पर आधारित किताब ‘एनिथिंग बट खामोश’ में इस बात का जिक्र भी किया गया है।

एक अंग्रेजी पत्रिका के कवर लॉन्च के कार्यक्रम के दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा था कि उन्हें उनकी पत्नी पूनम ने दो बार रंगे हाथों पकड़ा है। शत्रुघ्न ने बताया कि पहली बार पकड़े जाने पर उनकी पत्नी पूनम ने उन्हें हल्की-फुल्की चेतावनी देकर छोड़ दिया था लेकिन वो अपनी हरकतों से बाज नहीं आए। जब वो दूसरी बार अपनी पत्नी को धोखा देते पकड़े गए, तो उनकी पत्नी ने उन्हें अपने बच्चों के बारे में सोचने को कहा। इसके बाद वो बिल्कुल बदल गए।

पूनम सिन्हा आखिरी बार ‘जोधा अकबर’ फिल्म में नजर आई थीं। पूनम ने अपने करियर की शुरुआत ‘जिगरी दोस्त’ फिल्म से की थी जो कि साल 1968 में रिलीज हुई थी। इसके बाद ‘आदमी और इंसान’, ‘आग और दाग’, ‘सबक’, ‘शैतान’, ‘दिल दीवाना’, ‘ड्रीम गर्ल’, ‘मित्र- माइ फ्रेंड’ में भी नजर आईं। वहीं देव आनंद की फिल्म ‘प्रेम पुजारी’ से बॉलीवुड डेब्यू करने वाले शत्रुघ्न ने पारस (1971), दोस्त (1974), काला पत्थर (1979), दोस्ताना (1980) जैसी फिल्मों में अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया है।

 

 

Right Click Disabled!