भारतीय ई-कॉमर्स फ्लिपकार्ट

भारतीय ई-कॉमर्स फ्लिपकार्ट
Spread the love

अमेरिका की खुदरा क्षेत्र की दिग्गज कंपनी वॉलमार्ट की अगुवाई वाला समूह भारतीय ई-कॉमर्स फ्लिपकार्ट में 1.2 अरब डॉलर या 9,045 करोड़ रुपये का निवेश करेगा। इससे फ्लिपकार्ट भारतीय बाजार में अपनी प्रमुख प्रतिद्वंद्वियों अमेजन तथा मुकेश अंबानी की जियोमार्ट को चुनौती देने के लिए अच्छी स्थिति में होगी।

ई-कॉमर्स कंपनी में वॉलमार्ट की बहुलांश हिस्सेदारी है। वॉलमार्ट ने 2018 में 16 अरब डॉलर का निवेश कर फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया था। दोनों कंपनियों ने बयान में कहा कि निवेश के इस चरण में वॉलमार्ट के साथ समूह के मौजूदा शेयरधारकों ने भी हिस्सा लिया। इस निवेश के बाद फ्लिपकार्ट का मूल्यांकन 24.9 अरब डॉलर हो गया है। दो साल पहले फ्लिपकार्ट का मूल्यांकन 20.8 अरब डॉलर था।

फ्लिपकार्ट को वित्तपोषण वित्त वर्ष की शेष अवधि में दो चरणों में मिलेगा। हालांकि, फ्लिपकार्ट ने यह नहीं बताया है कि अन्य कौन से शेयरधारक कंपनी में निवेश कर रहे हैं। फ्लिपकार्ट ने कहा, ‘इस नई पूंजी से उसे भारतीय बाजार में अपने ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस का और विस्तार करने में मदद मिलेगी। दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा इंटरनेट बाजार अब कोविड-19 संकट से उबरने लगा है।’

 

Right Click Disabled!