राम मंदिर भूमि पूजन पर प्रियंका ने किया ये ट्वीट

राम मंदिर भूमि पूजन पर प्रियंका ने किया ये ट्वीट
Spread the love

पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन करेंगे। इसके बाद मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा। वहीं इसे लेकर कांगेस ने प्रतिक्रिया दी है। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला का कहना है कि राजनीति का धर्म होना चाहिए, धर्म की राजनीति नहीं। वहीं मंगलवार को मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपनी प्रोफाइल फोटो बदल ली है। नई फोटो में वे भगवा चोला पहने हुए नजर आ रहे हैं। इसके अलावा कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी का कहना है कि भूमि पूजन राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर बनना चाहिए।

राजनीति का धर्म होना चाहिए, धर्म की राजनीति नहीं: रणदीप सुरजेवाला
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘मैं राम मंदिर के कार्यक्रम से 24 घंटे पहले कोई भी राजनीतिक टिप्पणी करने से परहेज करूंगा। लेकिन मैं इतना कहूंगा कि राजनीति का धर्म होना चाहिए, धर्म की राजनीति नहीं, यही राम की मर्यादा है।’

राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व का कार्यक्रम बने राम मंदिर: प्रियंका गांधी वाड्रा
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को कहा कि भगवान राम सबमें हैं और सबके हैं। ऐसे में पांच अगस्त को अयोध्या में मंदिर निर्माण के लिए होने जा रहा भूमि पूजन राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का कार्यक्रम बनना चाहिए।

गांधी ने एक बयान में कहा कि दुनिया और भारतीय उपमहाद्वीप की संस्कृति में रामायण की गहरी और अमिट छाप है। भगवान राम, माता सीता और रामायण की गाथा हजारों वर्षों से हमारी सांस्कृतिक और धार्मिक स्मृतियों में प्रकाशपुंज की तरह आलोकित है।

कमलनाथ ने बदली ट्विटर प्रोफाइल
भूमि पूजन से पहले मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपनी ट्विटर प्रोफाइल पिक्चर बदल ली है। नई तस्वीर में वे भगवा चोला पहने हुए नजर आ रहे हैं। कांग्रेस नेता ने मंगलवार को अपनी तस्वीर बदली और लिखा, ‘श्रीराम के हनुमान करो कल्याण।’ इसके अलावा उन्होंने मंगलवार को भोपाल स्थित अपने आवास में हनुमान चालीसा का पाठ किया।

दिग्विजय ने भूमि पूजन के समय पर उठाए सवाल
दिग्विजय ने कहा था कि पांच अगस्त को राम मंदिर शिलान्यास का मुहुर्त अशुभ है। उन्होंने ट्वीट किया था, ‘मोदी जी आप अशुभ मुहुर्त में भगवान राम मंदिर का शिलान्यास कर और कितने लोगों को अस्पताल भिजवाना चाहते हैं? योगी जी आप ही मोदी जी को समझाइए। आपके रहते हुए सनातन धर्म की सारी मर्यादाओं को क्यों तोड़ा जा रहा है? और आपकी क्या मजबूरी है जो आप यह सब होने दे रहे हैं?’ उन्होंने आगे ट्वीट किया था मैं मोदी जी से फिर अनुरोध करता हूं पांच अगस्त के अशुभ मुहुर्त को टाल दीजिए। सैंकड़ों वर्षों के संघर्ष के बाद भगवान राम मंदिर निर्माण का योग आया है अपनी हठधर्मीता से इसमें विघ्न पड़ने से रोकिए।

 

 

Right Click Disabled!