विदेशी कंपनियों पर इंडोनेशिया ने लगाया 10 फीसदी VAT

विदेशी कंपनियों पर इंडोनेशिया ने लगाया 10 फीसदी VAT
Spread the love

कोरोना वायरस संकट के कारण इंडोनेशिया में आर्थिक परेशानी में आ गई है, जिसकी वजह से इंडोनेशिया ने कुछ कंपनियों पर वैल्यू एडेड टैक्स (VAT) लगाने का फैसला किया है। इस संदर्भ में इंडोनेशिया के टैक्स कार्यालय ने बताया कि इसने अमेजन वेब सर्विसेज, नेटफ्लिक्स, स्पॉटिफाई और अल्फाबेट के गूगल को टैक्स आइडेंटिफिकेशन नंबर (टिन) जारी कर दिया है। इन कंपनियों पर 10 फीसदी वैट लगाया जाएगा।

मालूम हो कि आबादी के लिहाज से इंडोनेशिया दुनिया का चौथे सबसे बड़े देश है। इंडोनेशिया की आबादी करीब 27 करोड़ है। हाल के वर्षों में देश की डिजिटल अर्थव्यवस्था काफी तेजी से बढ़ी है। गूगल के एक अध्ययन के अनुसार, 2025 तक इंडोनेशिया की डिजिटल अर्थव्यवस्था का आकार बढ़कर 27,000 करोड़ डॉलर यानी करीब 9.7 लाख करोड़ रुपये हो जाने की उम्मीद है।
लेकिन वर्तमान साल की बात करें, तो कोरोना वायरस महामारी की वजह से इंडोनेशिया के रेवेन्यू में 13 फीसदी की गिरावट आने का अनुमान है। हालांकि अमेजन और गूगल जैसी कंपनियों पर 10 फीसदी वैट लगाए जाने के कारण कुछ रिकवरी की उम्मीद होगी।

 

Right Click Disabled!