वैश्विक अर्थव्यवस्था में आ सकती है सबसे बड़ी गिरावट

वैश्विक अर्थव्यवस्था में आ सकती है सबसे बड़ी गिरावट
Spread the love

कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए वैश्विक अर्थव्यवस्था में 2020 में 5.2 फीसदी की गिरावट आने की आशंका है और दुनिया के लगभग सभी देशों की आर्थिक संभावनाएं धुंधली दिख रही हैं। डन एंड ब्रॉडस्ट्रीट की ‘देशों के जोखिम और वैश्विक परिदृश्य रिपोर्ट’ में यह कहा गया है।

दूसरे विश्व युद्ध के बाद सबसे बड़ी गिरावट
रिपोर्ट के अनुसार, व्यापक वैश्विक परिदृश्य धुंधला है और वैश्विक अर्थव्यवस्था 2022 से पहले कोविड-19 के पहले के स्तर पर नहीं आएगी। इस रिपोर्ट में 132 देशों को शामिल किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि, ‘डन एंड ब्रॉडस्ट्रीट का अनुमान है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में 2020 में 5.2 फीसदी की गिरावट आएगी। यह दूसरे विश्व युद्ध के बाद सबसे बड़ी गिरावट है और 2009 में 1.9 फीसदी की गिरावट के मुकाबले कहीं अधिक बड़ी गिरावट है।’

भीषण मंदी की आशंका
एशिया प्रशांत क्षेत्र 2020 के समाप्त होने से पहले आर्थिक प्रभाव से बाहर आने की संभावना कम है। इस संदर्भ में डन एंड ब्रॉडस्ट्रीट के मुख्य अर्थशस्त्री अरूण सिंह ने कहा कि, ‘कई देश लॉकडाउन में ढील दे रहे हैं। लेकिन विकास और गिरावट की और अलग-अलग तस्वीर सामने आयी हैं। भीषण मंदी की आशंका बनी हुई है और हमारा अनुमान है कि विश्व अर्थव्यवस्था 2022 से पहले महामारी के पूर्व स्तर पर नहीं लौटेगी।’

आगे रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 2021 में अगर कोई पुनरुद्धार होता है, तो इस पर कई कारकों का प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। इसमें सबसे पहले लॉकडाउन में ढील के बावजूद सामाजिक दूरी का पालन और बड़ी संख्या में बेरोजगारी तथा गरीबी शामिल हैं।

 

Right Click Disabled!