वो 10 बदनसीब क्रिकेटर, जो एक बार मैदान पर गिरने के बाद दोबारा कभी उठ नहीं पाए

वो 10 बदनसीब क्रिकेटर, जो एक बार मैदान पर गिरने के बाद दोबारा कभी उठ नहीं पाए
Spread the love

क्रिकेट भारी अनिश्चितताओं का खेल है। मैदान पर चल रहा खेल कब किस ओर पलट जाए, इसका सही अनुमान लगाना बेहद ही मुश्किल है। क्रिकेट के मुकाबले में हार-जीत सामान्य बात है, लेकिन क्रिकेट मैदान पर मौत इस रोमांचक खेल में डर का माहौल पैदा कर देती है, जिस क्रिकेट गेंद को हवा में लहराते देख में रोमांच में डूब जाते हैं, वही गेंद कभी-कभी हमें शोक के सागर में ढ़केल देती है। क्रिकेट के मैदान पर दर्जनों खिलाड़ियों ने दम तोड़ा है। आइए जानते हैं उन 10 प्रमुख खिलाड़ियों के बारे में, जिन्होंने क्रिकेट के मैदान से से दुनिया को अलविदा कह दिया।

फिल ह्यूज
ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर फिल ह्यूज को घरेलू टूर्नामेंट शेफील्ड शील्ड के एक मैच के दौरान सीन एबॉट का बाउंसर उनके सिर पर लगा। हालांकि उन्होंने हेलमेट पहना था लेकिन, गर्दन के हिस्से पर गेंद लगने के कारण वह बुरी तरह चोटिल हो गए। वह तीनों दिनों तक कोमा में रहे और 27 नवंबर 2014 को उनका निधन हो गया।

डैरिन रैंडल
दक्षिण अफ्रीका के एक घरेलू मैच में विकेटकीपर-बल्लेबाज डैरिन रैंडल के सिर पर में चोट लगी थी। पुल शॉट खेलने की कोशिश के दौरान गेंद उनके सिर पर लगी और और वो पिच पर ही गिर गए। उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन वो नहीं बच सके। वह महज 32 साल के थे।

जुल्फिकार भट्टी
पाकिस्तान के 22 वर्षीय घरेलू क्रिकेटर को 19 दिसंबर 2013 को एक मैच के दौरान छाती पर गेंद लगी थी। गेंद लगते ही वो पिच पर गिर पड़े, उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन जान नहीं बच पाई।

रिचर्ड ब्यूमोंट
इंग्लैंड के रिचर्ड ब्यूमोंट को मैदान पर दिल का दौरा पड़ा और फिर वह नहीं बचाए जा सके। तेज गेंदबाज को बर्मिंघम के क्वीन एलिजाबेथ अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन उनकी जान नहीं बच पाई।

वसीम राजा
पाकिस्तानी तेज गेंदबाज वसीम राजा को 2006 में मैदान पर खेलते हुए दिल का दौरा पड़ा और उनकी मृत्यु हो गई। राजा सरे में 50 ओवर का एक मुकाबला खेल रहे थे। दो-तीन ओवर की गेंदबाजी करने के बाद उन्होंने बेचैनी की शिकायत की और उसके थोड़ी देर ही बाद वो मैदान पर ही गिर पड़े, उन्हें गंभीर दिल का दौरा पड़ा था।

रमन लांबा
भारतीय बल्लेबाज रमन लांबा ने क्रिकेट का आगाज तो शानदार किया, लेकिन अंजाम दुखद और कभी न भूलने वाला रहा। अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के लिए मशहूर रमन लांबा ने क्रिकेट मैदान पर खेलते हुए दम तोड़ा था। लांबा 20 फरवरी 1998 को ढाका में बांग्लादेश के क्रिकेट क्लब अबाहानी क्रइरा चाकरा के लिए खेल रहे थे। वो फील्डिंग के समय बेहद करीब कैचिंग पोजिशन में खड़े थे तभी बल्लेबाज ने तेज शॉट लगाया और गेंद सीधे रमन लांबा के सिर पर लगी। रमन लांबा ने उस वक्त हेलमेट नहीं पहना हुआ था, उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन चोट इतनी गहरी थी कि उनकी जान बचाई नहीं जा सकी।

इयान फोली
इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी रहे इयान फोली का निधन भी क्रिकेट के मैदान में गेद लगने से हुआ। 1993 में घरेलु टूर्नामेंट के दौरान डर्बीशायर की ओर से खेलने वाले इयान फोली को बल्लेबाजी करते हुए आंख के नीचे गेंद लगी। उन्हें इलाज के लिए तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन दिल का दौरा पड़ने से अस्पताल में ही फोली ने दम तोड़ दिया।

विल्फ स्लैक
इंग्लैंड के क्रिकेटर विल्फ स्लैक 34 वर्ष की आयु में 1989 में गांबिया के एक घरेलू मैच के दौरान गिरे और उनका निधन हो गया। इससे पहले मैच में स्लैक चार बार बेहोश हुए तथा कई बार जांच किए जाने के बावजूद चिकित्सक स्लैक की मृत्यु का कारण नहीं जान सके।

अब्दुल अजीज
पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज रहे अब्दुल अजीज की भी मैदान में गेंद लगने के कारण ही मौत हो गई। अजीज को महज 18 साल की उम्र में ही 17 जनवरी 1959 में पाकिस्तान की घरेलू क्रिकेट कैद-ए-आजम टूर्नामेंट में मैदान में सीने पर गेंद लगने से जान गंवानी पड़ी।

जॉर्ज समर्स 
एमसीसी के खिलाफ लॉर्डस में 1870 में एक मैच के दौरान नॉटिंघमशायर के लिए बल्लेबाजी करते हुए 25 वर्षीय जॉर्ज समर्स के सिर पर गेंद लगी। समर्स ने मैदान पर उपचार लिया और घर लौट आए, जिसके चार दिन बाद उनकी मौत हो गई।

 

 

 

 

 

Right Click Disabled!