शहर से कूड़ा उठाने के एवज में हर माह 1.95 करोड़ लेनी वाली चीनी कंपनी का कांट्रैक्ट रद्द किया जाए

शहर से कूड़ा उठाने के एवज में हर माह 1.95 करोड़ लेनी वाली चीनी कंपनी का कांट्रैक्ट रद्द किया जाए
Spread the love

 गलवान घाटी में चीन द्वारा भारतीय सैनिकों की हत्या किए जाने से गुस्साए मेयर से लेकर पार्षद तक लामबंद हो गए हैं। डिप्टी मेयर समेत अन्य भाजपा पार्षदों ने शहर से कूड़ा उठाने के एवज में हर माह 1.95 करोड़ रुपए वसूलने वाली चीनी कंपनी ईकोग्रीन का कांट्रैक्ट तत्काल रद्द करने की सरकार से मांग की है।

इस मुद्दे को लेकर पार्षदों का कहना है कि जल्द ही सभी इस मुद्दे पर बात कर सरकार से ठेका रद्द करने के लिए प्रस्ताव भेजेंगे। क्योंकि राष्ट्रहित सर्वोपरि है। निगम पार्षद कंपनी के कामकाज से भी संतुष्ट नहीं है। डिप्टी मेयर मनमोहन गर्ग ने इस बारे में कमिश्नर डॉ. यश गर्ग को पत्र लिख कंपनी का ठेका तत्काल रद्द करने की सिफारिश की है।

फरीदाबाद व गुड़गांव से रोज निकलने वाले कूड़े का निस्तारण करने के लिए हरियाणा सरकार ने अगस्त 2017 में चीन की इको ग्रीन कंपनी के साथ समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किया था। इसके तहत कंपनी ने गुड़गांव और फरीदाबाद में घर-घर से कूड़ा उठाकर बंधवाड़ी प्लांट तक पहुंचाना है। यहां ठोस कचरा निस्तारण संयंत्र में कूड़े से बिजली भी बनाने की योजना है। कंपनी ने 15 दिसंबर 2017 से शहर के अलग-अलग वॉर्डों से कूड़ा उठाने का काम शुरू हो गया है। लेकिन आम जनता से लेकर पार्षद तक कंपनी के कामकाज से संतुष्ट नहीं हैं।

Right Click Disabled!