सभी पड़ोसियों के साथ चीन का सीमा विवाद

सभी पड़ोसियों के साथ चीन का सीमा विवाद
Spread the love

चीन का सीमा विवाद सिर्फ भारत में भूटान से नहीं बल्कि सभी 18 पड़ोसियों से है। यहां तक कि इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (आईसीजे) जैसी अंतरराष्ट्रीय संस्था और वैश्विक दबाव को भी वह ठेंगा दिखाता रहा है। स्पार्टली द्वीप विवाद में फिलीपींस के पक्ष में आए आईसीजे के फैसले को भी उसने दरकिनार कर रखा है।

अधिकारियों के मुताबिक, लद्दाख में पीएम मोदी के विस्तारवाद का जिक्र करने से तिलमिलाया चीन ने तत्काल बयान दिया। जबकि पीएम ने चीन का नाम भी नहीं लिया था। चीन ने कहा था कि उसने 14 पड़ोसियों के साथ सीमा विवाद शांति से सुलझाया है।भारत चीन से सीमा विवाद करीब 35 किलोमीटर एलएसी पर है। चीन लद्दाख से लेकर अरुणाचल प्रदेश तक कहीं भी विवाद खड़ा करता रहता है। ताजा विवाद पूर्वी लद्दाख के चार जगहों पर है। इसके अलावा चीन भारत के 38,000 वर्ग किलोमीटर वाले अक्साई चीन पर अपना कब्जा जमाए बैठा है।

भारत की तरफ से इसके बारे में बात करने से ही चीन तिलमिला उठता है। सूत्रों के मुताबिक, लद्दाख के ताजा तनाव के पीछे चीन का अक्साई चीनको लेकर अंदेशा ही माना जा रहा है। साथ ही चीन लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश को तिब्बत का हिस्सा बता कर बार-बार अपनी दावेदारी ठोंकता रहता है।

 

Right Click Disabled!