150 इंडोनेशियाई नागरिकों को जमानत

150 इंडोनेशियाई नागरिकों को  जमानत
Spread the love

नई दिल्ली। अदालत ने मंगलवार को तब्लीगी जमात मामले में 150 इंडोनेशियाई नागरिकों को जमानत दे दी। इन विदेशी नागरिकों पर कोविड-19 महामारी अधिनियम, वीजा नियमों, सरकारी दिशा निर्देशों के उल्लंघन और मिशनरी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है। इन सभी विदेशियों को निजामुद्दीन मरकज में अवैध रूप से आयोजित तब्लीगी जमात से मार्च में हिरासत में लिया गया था।

साकेत कोर्ट की मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट गुरमोहिना कौर ने इन विदेशी नागरिकों को 10-10 हजार रुपये के निजी मुचलके पर जमानत प्रदान की। इन विदेशियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये उनके देशों के उच्चायोगों के अधिकारियों और मामले के जांच अधिकारियों द्वारा कोर्ट में पेश किया गया। इन आरोपियों की ओर से वकीलों आशिमा मंडला, मंदाकिनी सिंह और फहीम खान ने जिरह की।

इन वकीलों का कहना है कि ये सभी आरोपी बुधवार को अदालत में समझौता याचिका दायर करेंगे, जिसके तहत ये नागरिक इन पर लगे आरोपों के मद्देनजर कम सजा की मांग करेंगे। वकील ने बताया कि समझौता याचिका ‘प्ली बारगेन’ के तहत आरोपी अपना अपराध स्वीकार करते हुए कम सजा का अनुरोध करता है। यह अधिकतम सात साल की सजा वाले मामलों में ही हो सकती है।

 

Right Click Disabled!