190 करोड़ का फ्रॉड: शमशाद सैफी गिरफ्तार

190 करोड़ का फ्रॉड: शमशाद सैफी गिरफ्तार
Spread the love

जीएसटी की खुफिया जांच इकाई ने फर्जी दस्तावेज के आधार पर जाली कंपनियां बनाने और उनके बीच परिचालन दिखाते हुए बिल जारी कर 190 करोड़ रुपये से अधिक के नकली इनपुट टैक्स क्रेडिट के मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। जीएसटी खुफिया महानिदेशालय (डीजीजीआई) ने नई दिल्ली निवासी शमशाद सैफी को गिरफ्तार किया है। उस पर फर्जी दस्तावेज के आधार पर जाली कंपनियां बनाने और उसके परिचालन दिखाने तथा बिल जारी कर 190 करोड़ रुपये से अधिक के फर्जी इनपुट टैक्स क्रेडिट (आईटीसी) बिल जारी करने का आरोप है।

हालांकि उसके पास वस्तुओं या सेवाओं की आपूर्ति या प्राप्त करने को लेकर कोई रसीद नहीं है। डीजीजीआई के मुताबिक, ‘उसने कुल 190 करोड़ रुपये के आईटीसी बिलों को जारी किया।’ जांच से पता चला कि मोहम्मद सैफी ने मेसर्स टेक्नो इलेक्ट्रिकल और मेसर्स लता सेल्स नाम से नई दिल्ली के पते वाली दो कंपनियां बनाई। ये कंपनियां फर्जी दस्तावेज के आधार पर बनाई गईं। ये कंपनियां ऐसे लोगों के नाम, पते पर बनाई गई जिनका कहीं अता पता नहीं है।

 

Right Click Disabled!