महज 5 रुपये के लिए 5 लोगों ने कर दी हत्या

महज 5 रुपये के लिए 5 लोगों ने कर दी हत्या

मुंबई

रोज की तरह वह पेट्रोल पंप पर अपने ऑटो में गैस भराने के लिए पहुंचा था। 205 रुपये की गैस भराने के बाद जब उसने 500 की नोट दी तो वापस मिले 290 रुपये। बुजुर्ग ऑटो ड्राइवर ने इस पर सवाल करते हुए जब 5 रुपये मांगे तो उसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। इंसानियत को शर्मसार करने वाली यह घटना मुंबई उपनगर के बोरीवली स्थित कस्तूरबा मार्ग की है। मागाठाणे सीएनजी पंप पर मंगलवार शाम को ऑटो रिक्शा में गैस भराने आए ऑटोरिक्शा ड्राइवर राम दुलार सरजू यादव को पंप पर काम करने वाले 5 कर्मचारियों ने पीट-पीट कर मार डाला। उस दौरान राम दुलार के साथ उसका 35 वर्षीय बेटा संतोष रामदुलार यादव भी था।

पुलिस के अनुसार, इस मामले में शामिल पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस की गिरफ्त में आए आरोपियों के नाम संदीप जाधव (29), संतोष जाधव (34), संतोष शेलार (44), अक्षय मानकुंबरे (20) और रविंद्र मानकुंबरे (38) हैं। अक्षय अंधेरी में रहता है, जबकि बाकी चारों आरोपी नायगांव के खोपरीपाडा स्थित शितला देवी चॉल के कमरा नंबर 31 में एक साथ रहते हैं। मंगलवार की शाम रामदुलार ने अपने ऑटोरिक्शा चालक बेटे संतोष को फोन कर सीएनजी भरवाने के लिए मागाठाणे सीएनजी पंप पर बुलाया था।

रामदुलार ने ऑटो में 205 रुपये की गैस भराने के बाद पंप कर्मचारी को 500 रुपये का नोट दिया और 295 रुपये लौटाने को कहा। बताया जा रहा है कि उस पंप कर्मचारी ने राम दुलार को 295 रुपये की बजाय 290 रुपये यानी 5 रुपये कम ही दिए। रामदुलार ने 5 रुपये कम दिए जाने के बारे में पंप कर्मचारी संदीप जाधव से सवाल किया और उससे 5 रुपये और देने को कहा। इससे पंप कर्मचारी संतोष जाधव नाराज हो गया और रामदुलार के साथ बदसलूकी करने लगा। पिता के साथ संदीप की बहस होते देख बेटा संतोष यादव भी उसके पास पहुंचा और हस्तक्षेप करने लगा।

इससे संदीप जाधव और भड़क गया और उसने पंप पर मौजूद अन्य कर्मचारियों के साथ मिलकर बाप-बेटे की बुरी तरह पिटाई कर दी। इस वारदात में संतोष को गंभीर चोटें आईं, जबकि रामदुलार वहीं अचेत होकर गिर पड़ा। कुछ देर बाद मौके पर जुटी भीड़ ने बेहोश रामदुलार को कांदिवली के शताब्दी अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। देर शाम शताब्दी अस्पताल के डॉक्टरों ने शव का पोस्टमॉर्टम कर उसे परिजन को सौंप दिया। घटना के बाद से उक्त सोसायटी में गम का माहौल है।

कस्तूरबा मार्ग पुलिस थाने के सीनियर पुलिस इंस्पेक्टर नामदेश शिंदे ने बताया, ‘रामदुलार के बेटे संतोष की शिकायत पर पुलिस ने पांचों आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 143, 147, 149, 302, 323, 504 और 506 दर्ज कर सभी को गिरफ्तार कर लिया है और घटना की जांच की जा रही है।’ दादर में भी 25 जनवरी 2019 को मात्र 10 रुपये के लिए सब्जी विक्रेता ने मोहम्मद हनीफ सिद्दीकी की चाकू मारकर हत्या कर दी थी। हनीफ सब्जी खरीदने के बाद आरोपी सब्जी विक्रेता से 10 रुपये छुट्टे मांग रहे थे, जिसे आरोपी ने देने से इनकार कर दिया।

इसी बात को लेकर दोनों के बीच बहस हो गई और आरोपी ने वारदात को अंजाम दे दिया। एनसीआरबी के अनुसार, हत्या के मामलों में 5,450 केस के साथ पहले स्थान पर मध्य प्रदेश, 4,337 केस के साथ दूसरे स्थान पर राजस्थान और 4,322 मामलों के साथ उत्तर प्रदेश तीसरे स्थान पर रहे, जबकि चौथे स्थान पर महाराष्ट्र आया है। महाराष्ट्र में 2018 में 2,149 मामले दर्ज किए गए थे। 9,623 मामलों में हत्या की प्रमुख वजह रहा आपसी विवाद। 3,875 घटनाएं निजी रंजिश और 2,995 मामलों में फायदा लेने के लिए आरोपियों ने हत्या की वारदात को अंजाम दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Right Click Disabled!