मुफ्त वाईफाई को लेकर आरबीआई का अलर्ट, खाता हैक कर निकाल रहे हैं रुपये

मुफ्त वाईफाई को लेकर आरबीआई का अलर्ट, खाता हैक कर निकाल रहे हैं रुपये

कोरोना के दौरान देश में कई तरह के धोखाधड़ी के मामले देखने को मिले। इनमें से कई लोगों को ई-मेल के जरिए तो कई लोगों को फोन कॉल के जरिए फ्रॉड का शिकार बनाया गया। ऐसे फ्रॉड को लेकर पुलिस और बैंक लगातार अलर्ट कर रहे हैं लेकिन फ्रॉड ऐसे भी सामने आए हैं जो मुफ्त वाईफाई देने के नाम पर किए गए हैं।

भारतीय रिजर्व बैंक ने इसे लेकर एक अलर्ट जारी किया है कि फ्रॉड के कई मामले मुफ्त वाईफाई एक बड़ी वजह है। आरबीआई ने लोगों को मुफ्त वाईफाई से होने वाले फ्रॉड को लेकर आगाह किया है। बैंक ने लोगों से फिलहाल किसी भी मुफ्त वाईफाई को इस्तेमाल ना करने की सलाह दी है।

ग्राहकों के साथ ऐसे की जा रही है धोखाधड़ी
रिजर्व बैंक ने अपने अलर्ट में कहा कि इस समय लोग लोगों को ठगने के लिए मुफ्त वाईफाई का इस्तेमाल कर रहे हैं। जैसा ही लोग मुफ्त वाईफाई का नाम सुनते हैं और इसके इस्तेमाल करते हैं वैसे ही ये धोखेबाज लोगों के खातों को हैक करके जमा राशि निकाल लेते हैं।

ये लोग कई तरह के लुभावने ऑफर्स भी देते हैं। इतना ही नहीं केवाईसी की जरूरतों को पूरा करने जैसे फर्जी बहाने लेकर बैंक की वेबसाइट की हूबहू नकल करते हुए लोगों को ठगा जा रहा है। ग्राहकों को मोबाइल, ई-मेल, ई-वॉलेट में अपना बैंकिंग डाटा ना रखने की सलाह दी जाती है।  इसके अलावा भारतीय रिजर्व बैंक पहले से ही अपने ग्राहकों को किसी के साथ अपना ओटीपी, पिन या सीवीवी नंबर ना बताने के लिए कहता आ रहा है।

कोरोना के नाम पर हो रही धोखाधड़ी
देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने भी लोगों को साइबर हमलों की चेतावनी दी है। बैंक ने कहा है कि अगर फ्री कोविड टेस्ट के नाम पर कोई मेल आए तो उस पर क्लिक ना करें। अगर आप उस मेल पर क्लिक करते हैं तो आपके साथ भी ऑनलाइन धोखाधड़ी हो सकती है।

 

Spread the love
Right Click Disabled!