निर्देशक से हुई अनबन के बाद में इन एक्टर्स ने खुद ही बना डाली फिल्म

निर्देशक से हुई अनबन के बाद में इन एक्टर्स ने खुद ही बना डाली फिल्म
Spread the love

बॉलीवुड फिल्म जगत में एक्टर और डायरेक्टर के बीच कई बार खटपट हो जाती है। लेकिन ये अनबन कई बार इतनी बढ़ जाती है कि कुछ स्टार्स उस फिल्म से निर्देशक को ही निकाल देते हैं।  यही नहीं इसके बाद वह फिल्म की कमान अपने हाथों में ले लेते हैं।  ऐसी ही कुछ फिल्मों के बारे में आज हम आपको बताएंगे, जिनमें एक फिल्म से अभिनेता ने निर्देशक को रिप्लेस कर खुद ही डायरेक्शन करना शुरू कर दिया।

अरबाज खान 
ये किस्सा है दबंग 2 की शूटिंग का।  इस फिल्म का निर्देशन अभिनव कश्यप कर रहे थे।  इस दौरान फिल्म के प्रोड्यूसर अभिनेता अरबाज खान और उनके बीच कुछ अनबन पैदा हो गई।  इसके बाद अरबाज ने उनको निकाल खुद ही फिल्म का निर्देशन करना शुरू कर दिया।  इस तरह दबंग-2 अरबाज खान की बतौर निर्देशक पहली फिल्म बन गई। सलामन खान की फिल्म ‘दबंग 2’ साल 2012 में रिलीज हुई थी।  इसमें वह दोबारा सोनाश्री सिन्हा संग स्क्रीन शेयर करते नजर आए थे।  चुलबुल पांडे के अपने किरदार से सलमान ने दर्शकों का दिल जीता था।  इस फिल्म ने 250 करोड़ के करीब कमाई की थी।

साल 2007 में आई आमिर खान और दर्शील सफारी की फिल्म तारे जमीन पर ने ना सिर्फ दर्शकों का दिल जीत लिया था बल्कि ढेरों अवॉर्ड भी अपने नाम कर लिए थे। हालांकि इस फिल्म के साथ विवाद तब पैदा हो गया जब डायरेक्टर के क्रेडिट को लेकर आमिर खान का नाम सामने आया। वहीं अमोल गुप्ते को राइटर और क्रिएटिव राइटर का क्रेडिट दिया गया। दरअसल, ‘तारे जमीन पर’ को अमोल गुप्ते डायरेक्ट करने वाले थे। उन्होंने ही स्टोरी लिखने के बाद आमिर खान को कॉन्टैक्ट किया था और दर्शील सफारी को भी खोज निकाला था। लेकिन शूटिंग के बीच में क्रिएटिव डिफरेंसेस के चलते आमिर ने निर्देशन का कार्यभार संभाला।

साल 2019 में रिलीज हुई फिल्म मणिकर्णिका के चलते कंगना रणौत काफी सुर्खियों में रहीं। इस फिल्म को कृष डायरेक्ट करने वाले थे।  लेकिन अभिनेत्री और निर्देशक के बीच फिल्म के कुछ सीन और एक्टर्स को लेकर मतभेद थे।  इसके बाद इस फिल्म को कंगना ने ख़ुद ही डायरेक्ट कर डाला।  इस फिल्म में उन्होंने रानी लक्ष्मी बाई का किरदार अदा किया था। कंगना पहली बार ऐसी किसी फिल्म में नजर आई हैं। किरदार के मामले यह कंगना की ऐसी फिल्म रही जिसके लिए उन्हें बहुत मेहनत करनी पड़ी थी। फिल्म में उनके अलावा अंकिता लोखंडे भी अहम भूमिका में नजर आईं।

1967 में आई फिल्म ‘उपकार’ उस साल की सबसे हिट फिल्मों में से रही थी। इस फिल्म में मनोज कुमार ने ना सिर्फ अभिनय किया, बल्कि इसे लिखा और इसका निर्देशन भी उन्हीं ने किया था। पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के कहने पर मनोज कुमार ने ये फ़िल्म बनाई थी।  इस फिल्म का निर्देशन पहले कोई और कर रहा था, लेकिन कुछ दिनों बाद मनोज कुमार और उसके बीच अनबन हुई।  जिसके बाद फिल्म की कमान मनोज कुमार ने संभाल ली।  उन्होंने ‘उपकार’ के अलावा ‘पूरब और पश्चिम’, ‘शोर’, ‘रोटी कपड़ा और मकान’ और ‘क्रांति’ भी बनाईं, जिनमें उन्होंने अभिनय भी किया और निर्देशन भी। रजत कपूर की गिनती इंडस्ट्री के वर्सेटाइल एक्टर्स में होती है। इन्होंने ‘मिक्स डबल्स’ नाम की फ़िल्म डायरेक्ट की थी।  शूटिंग के पहले दिन ही इनकी डायरेक्टर से नहीं बनी।  तब रजत कपूर ने ख़ुद ही इस फ़िल्म को डायरेक्ट करना शुरू कर दिया। इसके बाद वो ‘मिथ्या’ और ‘आंखों देखी’ जैसी फ़िल्में भी डायरेक्ट कर चुके हैं।

Right Click Disabled!