मतदान की तरह घर-घर मिलेगी टीके की पर्ची

मतदान की तरह घर-घर मिलेगी टीके की पर्ची
Spread the love

कोरोना टीकाकरण को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मतदान की तरह घर बैठे टीकाकरण के स्लॉट की पर्ची भी लोगों को मिलेगी। इतना ही नहीं टीकाकरण केंद्र तक जाने के लिए ई रिक्शा का इंतजाम भी किया गया है। बुधवार को लांसर रोड स्थित राजकीय सर्वोदय विद्यालय में जहां वोट, वहीं वैक्सीनेशन’ अभियान के तहत शुरू किए केंद्र का दौरा करने पहुंचे सीएम केजरीवाल ने दावा किया है कि चार सप्ताह में 45 वर्ष या उससे अधिक आयु के सभी लोगों को कम से कम एक खुराक मिल जाएगी। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के पास स्लॉट पर्ची है और फिर भी वे वैक्सीन लगवाने नहीं आ रहे हैं तो उनके घर दोबारा बीएलओ जाएंगें और उनकी शंका दूर करेंगे।

वैक्सीन को लेकर लोगों के मन में तरह-तरह की अफवाहें फैली हैं, उनको दूर करने की जिम्मेदारी हम सब की है। सीएम ने कहा कि अगर हम अपने चुनावी ढांचे का पूरे देश में इस्तेमाल करते हैं तो दो से तीन महीने में सबको वैक्सीन लगा सकते हैं। उन्होंने बताया कि अभी 45 साल से अधिक उम्र के 57 में से करीब 30 लाख लोगों को पहली खुराक नहीं लगी है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन के लिए लोग केंद्र तक कम पहुंच रहे हैं। इसलिए उन्होंने घर-घर जाकर लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए निमंत्रित और जागरूक करने की पहल शुरू की है। लोग जहां पर वोट डालने जाते हैं, वहीं पर उनको वैक्सीन लगाई जा रही है। मतदान केंद्र को ही टीकाकरण केंद्र के रुप में तब्दील किया है।

उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान जैसे बीएलओ घर-घर जाकर पर्ची देते हैं, उसी तरह वैक्सीन लगवाने के लिए स्लॉट की पर्ची दे रहे हैं। कुछ लोगों को सुबह 10 बजे तो कओसी को 12 बजे का स्लॉट दिया जा रहा है ताकि लोगों की भीड़ केंद्र पर नहीं लगे। सीएम केजरीवाल ने कहा कि जब 18 से 44 साल के लोगों के लिए वैक्सीन आ जाएगी, तब उनके लिए भी इसी तरह से अभियान चलाया जाएगा।  दरअसल राजधानी के 70 वार्डों में जहां वोट, वहां वैक्सीनेशन अभियान शुरू किया है। जबकि कुल 272 वार्ड हैं लेकिन दो विधानसभा में एक भी वार्ड नहीं हैं। सीएम का कहना है कि अगर इन्हें भी वार्ड में बांटा जाए तो कुल संख्या 280 होगी। इस तरह चार हफ्ते के अंदर पूरी दिल्ली में 45 साल से उपर के उम्र के लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लगा दी जाएगी।

Right Click Disabled!