जॉनसन नहीं चाहते थे सख्त पाबंदियां

जॉनसन नहीं चाहते थे सख्त पाबंदियां
Spread the love

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के पूर्व शीर्ष सहायक डोमिनिक कमिंग्स ने दावा किया है कि प्रधानमंत्री कोविड-19 मामलों के पिछले साल सितंबर में बढ़ने के बावजूद प्रतिबंध कड़े नहीं करना चाहते थे। इसके पीछे उनका मानना था कि महामारी के कारण मारे जा रहे लोगों की आयु ’80 वर्ष से अधिक’ है।

कमिंग्स ने देश में लॉकडाउन के प्रबंधन को लेकर पहले भी प्रधानमंत्री की आलोचना की थी। कमिंग्स ने बीबीसी को दिए एक साक्षात्कार में जॉनसन पर फिर से आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि जॉनसन ने उन्हें संदेश भेजा था, ‘मैं अब एनएचए (राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा) पर निर्भर नहीं करता।’ कमिंग्स ने कहा कि जॉनसन पिछले साल सितंबर में संक्रमण के मामले बढ़ने पर प्रतिबंध कड़े नहीं करना चाहते थे, क्योंकि उनका मानना था कि इससे मर रहे लोगों की आयु ’80 साल से अधिक है’।इसके जवाब में डाउनिंग स्ट्रीट ने कहा कि प्रधानमंत्री ने महामारी के दौरान ‘लोगों के जीवन और आजीविका की रक्षा के लिए सर्वश्रेष्ठ वैज्ञानिक सलाह के अनुसार आवश्यक कदम उठाए थे।’कमिंग्स ने बीबीसी से कहा कि उन्होंने, ब्रिटेन के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार सर पैट्रिक वालेंस और इंग्लैंड के मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रोफेसर क्रिस व्हिटी ने सितंबर के मध्य से सख्त प्रतिबंधों पर जोर दिया था, लेकिन जॉनसन ने कहा था, ‘नहीं, नहीं, नहीं, नहीं, नहीं, मैं यह नहीं कर रहा हूं’।

 

Right Click Disabled!