फाइनल में जीत का फॉर्मूला

फाइनल में जीत का फॉर्मूला
Spread the love

टी-20 विश्वकप 2021 के फाइनल मैच में न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया की टीमें पहली बार टी-20 विश्वकप जीतने के इरादे से उतरेंगी। इस मैच में न्यूजीलैंड 2015 वर्ल्डकप की हार का बदला लेना चाहेगी तो ऑस्ट्रेलिया टी-20 वर्ल्डकप में कीवियों के खिलाफ अपना रिकॉर्ड बेहतर करना चाहेगी। हालांकि नॉकआउट मैचों में ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड शानदार है। न्यूजीलैंड ने आखिरी बार 1981 में ऑस्ट्रेलिया को किसी नॉकआउट मैच में हराया था। इसके बाद दोनों टीमों के बीच 16 नॉकआउट मैच हुए हैं और हर बार कंगारुओं ने कीवियों को परास्त किया है। फाइनल मैच में न्यूजीलैंड 40 साल के जीत के सूखे को खत्म करना चाहेगा।

इस टूर्नामेंट की बात करें तो दोनों टीमें सिर्फ एक मैच हारी हैं और सेमीफाइनल में दोनों ने अपने मजबूत आंकी जा रही टीमों को हराया है। लीग मैच में ऑस्ट्रेलिया इंग्लैंड से हारी थी और न्यूजीलैंड ने सेमीफाइनल में उसे हराया। वहीं पाकिस्तान ने लीग मैच में न्यूजीलैंड को हराया था और ऑस्ट्रेलिया ने सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ जीत हासिल की है।

दुबई के मैदान में लक्ष्य का पीछा करना काफी आसान रहा है। यहां शाम के समय खेले गए पिछले 17 टी-20 मैचों में 16 लक्ष्य का पीछा करने वाली टीमों ने जीते हैं। वहीं वहीं वनडे और टी-20 वर्ल्डकप के पिछले चार फाइनल मुकाबले भी बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीमें ही जीती हैं। इस वर्ल्डकप के दोनों सेमीफाइनल भी लक्ष्य का पीछा करने वाली टीमें ही जीती हैं। दुबई में हुए पिछले 17 मैचों की बात करें तो पहले बल्लेबाजी करते हुए एकमात्र मैच चेन्नई सुपरकिंग्स ने जीता था। धोनी की टीम ने फाइनल में कोलकाता को हराया था। हालांकि उन्होंने पहले बल्लेबाजी करते हुए 192 रन बनाए थे।

 

Advertisement
Right Click Disabled!