कोच्चि शिपयार्ड से INS विक्रांत के 4 डिवाइस चोरी, जांच में जुटी NIA

कोच्चि शिपयार्ड से INS विक्रांत के 4 डिवाइस चोरी, जांच में जुटी NIA

कोच्चि
केरल के कोच्चि शिपयार्ड से पहले स्वदेशी युद्धपोत आईएनएस विक्रांत के चार डिजिटल डिवाइस चोरी हो गए हैं। चोरी हुए डिवाइस युद्धपोत के सबसे अहम पार्ट्स बताए जा रहे हैं। देश के सर्वाधिक सुरक्षित स्थानों में शामिल कोच्चि शिपयार्ड में चोरी के मामले को सुरक्षा में भारी चूक माना जा रहा है। आईएनएस विक्रांत अभी तैयार हो रहा है। इसे 2021 में भारतीय नौसेना के बेड़े में शामिल किया जाएगा। 2023 से ये अपनी सेवाएं देने लगेगा।
मीडिया रिपोर्ट में ये जानकारी दी गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, INS विक्रांत के कंप्यूटर के चार हार्ड डिस्क, रैंडम एक्सेस मेमोरी (रैम) और प्रोसेसर और चिप चोरी हो गए हैं। आईएनएस विक्रांत को 2021 में भारतीय नौसेना के बेड़े में शामिल किया जाएगा। रिपोर्ट के मुताबिक, केरल पुलिस चीफ लोकनाथ बेहरा ने बताया कि इस मामले की जांच के लिए स्पेशल टीम (SIT) गठित की गई है। कोच्चि शिपयार्ड ने सोमवार को इसकी शिकायत भी दर्ज कराई है।
रिपोर्ट के मुताबिक कोच्चि शिपयार्ड का कहना है कि 28 अगस्त तक युद्धपोत में सभी डिवाइस मौजूद थे। इस घटना ने एयरक्राफ्ट कैरियर की सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े किए हैं। क्योंकि, कोच्चि शिपयार्ड की सुरक्षा सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स (CISF) के जिम्मे है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोच्चि शिपयार्ड में सीसीटीवी कैमरे भी लगे हैं, लेकिन सर्विलांस सेंसर एयरक्राफ्ट कैरियर के बोर्ड पर अभी नहीं लगे हुए हैं।

Spread the love
Right Click Disabled!