प्रज्ञा का गोडसे प्रेम: रक्षा मंत्रालय की समिति से हटाया गया, संसदीय कमिटी से बाहर

प्रज्ञा का गोडसे प्रेम: रक्षा मंत्रालय की समिति से हटाया गया, संसदीय कमिटी से बाहर
Spread the love

बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर को नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताना बहुत महंगा पड़ा है। पार्टी ने सख्त कार्रवाई करते हुए प्रज्ञा का नाम रक्षा मंत्रालय की समिति से नाम वापस ले लिया है। बीजेपी उनसे कितनी नाराज है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्हें पार्टी संसदीय दल की बैठक में भी आने पर पाबंदी लगा दी गई है। प्रज्ञा ने लोकसभा में कहा था कि नाथूराम गोडसे देशभक्त हैं। लोकसभा की कार्यवाही से प्रज्ञा के इस बयान को हटा दिया गया। बुधवार को लोकसभा में दिए बयान के बाद बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की कमिटी से हटाने की सिफारिश की। उन्होंने प्रज्ञा के बयान को अस्वीकार्य बताया और गहरी नाराजगी प्रकट की। नड्डा ने प्रज्ञा के बयान की निंदा करते हुए कहा, ‘पार्टी कभी भी ऐसे बयानों का समर्थन नहीं कर सकती है। बड़ी बात यह है कि प्रज्ञा ने नाथूराम पर यह बयान पहली बार नहीं दिया है। पूर्व में इसी तरह का बयान देने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा था कि वह प्रज्ञा को कभी माफ नहीं कर पाएंगे।

Right Click Disabled!