देश की अर्थव्यवस्था में नरमी अस्थाई : प्रधान

देश की अर्थव्यवस्था में नरमी अस्थाई : प्रधान

भारतीय अर्थव्यवस्था की मौजूदा आर्थिक नरमी ” अस्थायी ” है और यह अमेरिका तथा चीन के बीच व्यापार मोर्चे पर चल रहे व्यापार युद्ध की वजह से है। केंद्रीय इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने रविवार को यह बात कही। उन्होंने कहा, “चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर में आई गिरावट ‘चक्रीय’ है और अर्थव्यवस्था ने सही दिशा में बढ़ना शुरू कर दिया है।” प्रधान ने कहा, “अर्थव्यवस्था में नरमी घरेलू कारणों की वजह से नहीं है बल्कि अमेरिका और चीन के बीच चल रहे व्यापार युद्ध की वजह से है। दुनिया की दो सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के बीच व्यापार मोर्चे पर तनाव से कई देशों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है।” जुलाई-सितंबर में जीडीपी की वृद्धि दर गिरकर 4.5 प्रतिशत पर आने के बारे में पूछ जाने पर उन्होंने कहा कि इसमें व्यापार युद्ध और वैश्विक बाजार में कच्चा तेल और अन्य जिसों से जुड़े मुद्दों का भी प्रभाव था। प्रधान पर पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय की भी जिम्मेदारी है। वह यहां भाजपा उम्मीदवारों के चुनाव प्रचार अभियान के लिए आए थे। उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था के बुनियादी कारक मजबूत हैं और अर्थव्यवस्था ने “सही दिशा में बढ़ना शुरू कर दिया है।” उल्लेखनीय है कि देश की आर्थिक वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में गिरकर 4.5 प्रतिशत पर आ गई है। यह आर्थिक वृद्धि दर का छह साल से ज्यादा का निचला स्तर है।

Spread the love
Right Click Disabled!