चीनी पत्रकार का दावा

चीनी पत्रकार का दावा
Spread the love

अमेरिका स्थित रेडियो फ्री एशिया (आरएफए) के लिए काम करने वाली पत्रकार गुलछेहरा होजा ने चीन को लेकर बड़ा खुलासा किया है। होजा ने कहा, चीन सरकार का एकमात्र मकसद उइगर मुस्लिमों की सांस्कृतिक, भाषाई और अन्य पहचान को पूरी तरह खत्म करना है। उन्होंने कहा, चीन सरकार ने मेरे अमेरिका में काम करने पर परिजनों और दोस्तों को काफी परेशान भी किया।

ओस्लो फ्रीडम फोरम नामक मानवाधिकार फाउंडेशन में बोलते हुए होजा ने कहा कि जबसे उन्होंने आरएफए के लिए काम करना शुरू किया है तब से वह अपने घर नहीं लौट सकी हैं।होजा चीन के शिनजियांग में सरकारी टीवी में काम करती थीं लेकिन उइगर मुस्लिमों के खिलाफ चीनी सरकार द्वारा चलाए जा रहे अभियान की वजह से उन्होंने नौकरी छोड़ दी और अमेरिका चली आईं।

होजा ने बताया, जब 2001 में मैंने यूरोप की यात्रा की थी तो पहली बार मैंने उइगर मुस्लिमों के अनकही दास्तां के बारे में रेडियो फ्री एशिया में सुना था। मुझे अचानक अपनी नौकरी का अहसास हुआ जिसका पत्रकारिता से भी कुछ नाता था। नौकरी पर रहते हुए मुझे अपने ही लोगों के खिलाफ झूठ बोलने को लेकर पछतावा है और मुझे लगता है कि चीन सरकार ने मेरा इस्तेमाल किया। फिर मैं चीन से बचकर निकली और अमेरिका से काम करना शुरू कर दिया।

 

Right Click Disabled!