सीमाओं पर किसान समर्थकों की संख्या में इजाफा 

सीमाओं पर किसान समर्थकों की संख्या में इजाफा 
Spread the love

एक तरफ पारा गिर रहा है तो दूसरी तरफ पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश सहित अन्य प्रदेशों से दिल्ली की सीमाओं पर किसानों के पहुंचने का सिलसिला बढ़ रहा है। पिछले एक महीने से तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग पर अड़े किसानों के समर्थन में शुक्रवार को सिंघु बॉर्डर, गाजीपुर, टीकरी बॉर्डर सहित सभी सीमाओं पर ट्रैक्टर ट्रॉलियों में हजारों की संख्या में किसान पहुंचे।

गाजीपुर बॉर्डर पर शुक्रवार शाम तक किसानों की संख्या में 5,000 की बढ़ोतरी हुई है। यहां किसानों की संख्या करीब 12,000 से अधिक हो गई। संयुक्त किसान मोर्चा का दावा है कि रात तक उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड से समर्थकों के आने से ये संख्या और बढ़ सकती है। दूसरी तरफ सिंघु बॉर्डर पर पहले ही 30-40 हजार किसान हैं। शुक्रवार को पंजाब से 100 से अधिक ट्रैक्टर सिंघु बॉर्डर पर पहुंचे।

वहीं, हरियाणा के कई हिस्सों से करीब 2,000 किसान आंदोलन का हिस्सा बने। टीकरी बॉर्डर पर भी शुक्रवार को किसानों की संख्या को देखकर, ऐसा लग रहा है कि यह आंदोलन तुरंत थमने वाला नहीं है। संयुक्त किसान मोर्चा का कहना है कि किसानों की संख्या तीनों प्रदर्शन स्थलों पर हर दिन बढ़ रही है। बगैर अपनी मांगे पूरी करवाए किसान वापस नहीं लौटेंगे।
आंदोलन स्थलों पर किसानों की संख्या में बढ़ोतरी को देखते हुए धरना स्थलों पर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

Right Click Disabled!