शहादत से पहले जवान की आखिरी कॉल

शहादत से पहले जवान की आखिरी कॉल
Spread the love

पंजाब का लाल पाकिस्तान की गोलीबारी में शहीद हो गया। शहीद के गांव हरचोवाल में शहादत की खबर पहुंचते ही शोक की लहर दौड़ पड़ी। शहीद गुरचरण 14 सिख रेजीमेंट में तैनात थे। पूरे राजकीय सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया गया। मां ने अपने लाल को सैल्यूट के साथ आखिरी विदाई दी। यह भावुक पल देख हर किसी की आंखें नम हो गईं।

बटाला के गांव हरचोवाल के जवान नायक गुरचरण सिंह (28) जम्मू-कश्मीर के राजौरी में गुरुवार को भारत-पाकिस्तान सीमा पर पाकिस्तान की तरफ से किए गए हमले में शहीद हो गए। गुरुवार को शहादत की खबर गांव हरचोवाल पहुंची तो पूरा गांव शोक में डूब गया। सात अक्तूबर 1991 को जन्मे गुरचरण सिंह 18 साल में ही फौज में भर्ती हो गए थे। वे 14 सिख रेजीमेंट में थे।

 

Right Click Disabled!