देश में बिजली की मांग में सुधार

देश में बिजली की मांग में सुधार
Spread the love

आर्थिक गतिविधियां बढ़ने से जुलाई में बिजली की खपत 113.48 अरब यूनिट रही है। इस तरह बिजली की खपत में गिरावट कम होकर 2.64 फीसदी रह गई। इन आंकड़ों से संकेत मिलता है कि अगस्त में बिजली की खपत अपने सामान्य स्तर पहुंच जाएगी। पिछले साल जुलाई में बिजली की खपत 116.48 अरब यूनिट रही थी।

बिजली मंत्रालय के ताजा आंकड़ों से पता चलता है कि सरकार द्वारा आर्थिक गतिविधियों के लिए अंकुशों में ढ़ील तथा गर्मियां बढ़ने के साथ ही बिजली की मांग सुधर रही है। सरकार ने कोविड-19 का प्रसार रोकने के लिए 25 मार्च 2020 से देशभर में लॉकडाउन लगाया था। इससे बिजली की वाणिज्यिक और औद्योगिक मांग और उपभोग में भारी गिरावट आई थी।

जून में बिजली की खपत 10.93 फीसदी घटकर 105.08 अरब यूनिट रही थी। जून, 2019 में यह 117.98 अरब यूनिट थी। इसी तरह देश में मई में बिजली की खपत 14.86 फीसदी तथा अप्रैल में 23.21 फीसदी घटी थी। इस साल अप्रैल, मई और जून में कोविड-19 की वजह से लागू पाबंदियों के चलते बिजली की वाणिज्यिक और औद्योगिक मांग में काफी गिरावट आई थी।

 

Right Click Disabled!